गर्मी और लू की चपेट में दिल्ली-एनसीआर समेत पूरा उत्तर भारत

image
Description

प्रकाश बंदूणी

नई दिल्ली। उत्तर भारत में शुक्रवार जहां मई का सबसे गर्म दिन रहा, वहीं शनिवार सुबह तापमान में मामूली गिरावट दर्ज की गई। आज सुबह राजधानी दिल्ली का न्यूनतम तापमान 27.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, वहीं आर्द्रता 48 प्रतिशत दर्ज की गई। हालांकि जैसे-जैसे दिन गुजर रहा है गर्मी बढ़ती जा रही है।
वहीं उत्तर भारत के कई शहरों में पारा 50 डिग्री तक पहुंच गया है। राजस्थान के ज्यादातर इलाकों में लोग लू और गर्मी से परेशान हैं। श्रीगंगानगर में पारा 50 डिग्री तक जा पहुंचा है। वहीं यूपी, दिल्ली, हरियाणा और पंजाब जैसे प्रदेशों में भी गर्मी चरण पर है।
मौसम विभाग के मुताबिक, अगले तीन दिन गर्मी और लू का कहर बढ़ेगा, जबकि पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश के दक्षिणी पश्चिमी भाग में धूल भरी हवाएं चल सकती हैं। शुक्रवार को हिमाचल प्रदेश, जम्मू-कश्मीर, उत्तराखंड, पंजाब, हरियाणा (दिल्ली और चंडीगढ़ सहित), उत्तर प्रदेश व पश्चिमी राजस्थान में तापमान सामान्य से काफी अधिक तथा पूर्वी राजस्थान में तापमान सामान्य रहा।
राजधानी दिल्ली में पारा पिछले 7 साल का रिकॉर्ड तोड़ने समेत अधिकतर जगह 45 डिग्री को पार कर गया। मौसम विभाग ने दिल्लीवासियों के लिए खराब मौसम से जुड़ी रेड वार्निंग जारी की है।
शुक्रवार को राजस्थान का श्रीगंगानगर सबसे गर्म स्थान आंका गया, जहां मई महीने का 75 साल का रिकॉर्ड तोड़ते हुए पारा 49.6 डिग्री सेल्सियस को छू गया। राजस्थान के ही चुरू में भी तापमान 48.5 डिग्री तापमान रहा, जबकि उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में तापमान 48.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।
उधर, दिल्ली-एनसीआर में दिनभर लू के तेज थपेड़ों ने लोगों को बेहद परेशान किया। दिल्ली का औसत अधिकतम तापमान 44.8 डिग्री सेल्सियस रहा। लेकिन दिन में इसने 45 डिग्री का भी स्तर छू लिया। इससे पहले 2012 में 31 मई को दिल्ली का तापमान 45 डिग्री सेल्सियस रहा था। राजधानी में शनिवार से लेकर आगामी बृहस्पतिवार तक दिल्ली का तापमान करीब 45 डिग्री ही रहने की संभावना है।
मौसम विभाग के मुताबिक, हिमाचल प्रदेश में तापमान विशेष रूप से बढ़ा है और उत्तर पश्चिमी भारत में अधिकतम तापमान में अधिक परिवर्तन नहीं हुआ। हालांकि शुक्रवार को हिमाचल में तापमान सामान्य से काफी कम दर्ज हुआ।
जम्मू-कश्मीर, उत्तराखंड, पंजाब, हरियाणा (दिल्ली और चंडीगढ़ सहित), उत्तर प्रदेश व पश्चिमी राजस्थान में सामान्य से काफी अधिक तथा पूर्वी राजस्थान में तापमान सामान्य रहा। मैदानी क्षेत्र में उत्तर प्रदेश के प्रयागराज केन्द्र पर सबसे अधिकतम तापमान 48.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ।
अगले पांच दिन में उत्तर पश्चिम भारत में अधिकतम तापमान में अधिक परिवर्तन की संभावना नहीं है। अगले तीन दिन गर्मी की स्थिति गंभीर होने के साथ-साथ लू का कहर जारी रहने की भी संभावना है। पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश के दक्षिणी पश्चिमी भाग में धूल भरी हवाएं चल सकती हैं।
मौसम विभाग के मुताबिक, अक्षरधाम मंदिर के नजदीक स्पोर्ट्स कांप्लेक्स केंद्र पर शुक्रवार को अधिकतम तापमान सबसे ज्यादा 46.6, पालम केंद्र पर 46.2, आयानगर केंद्र पर 46, जाफरपुर केंद्र पर 45.5, नजफगढ़ केंद्र पर 45.2, मुंगेशपुर केंद्र पर 44.8, लोदी रोड केंद्र पर 44.5 और रिज केंद्र पर 43.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *