मोहल्ला क्लीनिक खोलने के लिए सरकार लेगी किराये पर जमीन

image
Description

प्रकाश बन्दूणी

नई दिल्ली। दिल्ली की आम आदमी पार्टी की सरकार ने जन स्वास्थ्य को बढ़ावा देने के लिए बड़े जोर शोर से मोहल्ला क्लीनिक खोले जाने का एलान किया था। सरकार की योजना थी कि दिल्ली में एक हजार मोहल्ला क्लीनिक खोला जाए जिसका जिक्र सरकार ने बजट में भी किया था। लेकिन दिल्ली में जमीन के आभाव के कारण दिल्ली सरकार की योजना परवान नहीं चढ़ पा रही है। अब दिल्ली सरकार दिल्ली में करीब डेढ़ हजार की आबादी पर एक मोहल्ला क्लीनिक देने की तैयारी कर रही है। दिल्ली स्वास्थ्य विभाग ने क्लीनिक खोलने के लिए किराए पर जमीन के लिए आवेदन भी मांगे हैं।
विभाग के अनुसार करीब 1 हजार से ज्यादा मोहल्ला क्लीनिक शुरू करने का लक्ष्य है, लेकिन जमीन के अभाव में यह प्रस्ताव अधर में लटका है। इसके लिए दिल्ली की जनता सरकार का सहयोग कर सकती है। मोहल्ला क्लीनिक खुलने के बाद भूस्वामी को सरकार किराया भी देगी।
विभाग के अनुसार करीब 100 से 150 वर्गमीटर के प्लॉट पर क्लीनिक बनाया जाएगा। जमीन किराए पर देने के लिए आवेदन की अंतिम तिथि 6 अगस्त है। आवेदन के साथ भूस्वामी को क्लीनिक के अलावा होर्डिंग इत्यादि लगाने की मंजूरी भी अलग से देनी होगी।
विभाग के अनुसार वर्तमान में दिल्ली में करीब 189 मोहल्ला क्लीनिक संचालित हैं। दरअसल दिल्ली सरकार की ओर से मोहल्ला क्लीनिक शुरू करने के बाद जनस्वास्थ्य के लिए हुई इस पहल का अंतरराष्ट्रीय स्तर पर काफी सराहना हुई थी। हालांकि सरकार पिछले दो बजट में इन क्लीनिकों की संख्या को 1 हजार करने का दावा कर चुकी है लेकिन अब तक ऐसा हो नहीं पाया है।
अधिकारियों की मानें तो दिल्ली में जमीन का अभाव होने के कारण क्लीनिक प्रत्येक 1 से डेढ़ हजार की आबादी के बीच खोले जाने का लक्ष्य पूरा नहीं हो पा रहा। इसीलिए विभाग ने लोगों से जमीन किराए पर देने और दिल्ली में प्रत्येक नागरिक को उसके घर के करीब 1 किलोमीटर दायरे में ही स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराने के उद्देश्य को पूरा करने में मदद की अपील की है ताकि जरूरत पड़ने पर वह महज 10 से 15 मिनट में ही प्राथमिक स्वास्थ्य सेवाएं प्राप्त कर सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *