दिल्ली सरकार की उपेक्षा की वजह से ई-रिक्‍शा चालकों को हो रही है परेशानी: भाजपा

image
Description

पंकज चैहान

नई दिल्ली। ई-रिक्शा चालकों ने अपनी मांग को लेकर जंतर-मंतर पर प्रदर्शन किया। दिल्ली प्रदेश भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी और पूर्व विधायक कपिल मिश्र भी शामिल हुए। उन्होंने दिल्ली सरकार पर ई रिक्शा चालकों के साथ वादा खिलाफी करने और सुविधाओं से वंचित रखने का आरोप लगाया। दिल्ली ई-रिक्शा एकता मंच के अध्यक्ष मोहम्मद अकबर राईन व अन्य सदस्यों ने भाजपा प्रदेश अध्यक्ष को अपनी समस्याएं बताई। उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार की उपेक्षा की वजह से उन्हें कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।
उन्होंने फिटनेस से छूट देने व सेवा कर माफ करने की मांग की। इसके साथ ही राजधानी की 236 प्रतिबंधित सड़कों पर ई-रिक्शा चलाने की अनुमति देने, लाइसेंस बनाने की प्रक्रिया सरल बनाने, ई-रिक्शा को परमिट देने, चार्जिग एवं पार्किग की जगह मुहैया कराने, मेट्रो व रेलवे स्टेशनों पर पार्किग की सुविधा उपलब्ध कराने की मांग की।
तिवारी ने कहा कि ई-रिक्शा एकता मंच की लगभग सभी मांगें जायज हैं। इनकी समस्याएं सुनने के बाद लगता है कि दिल्ली सरकार ने इनके साथ गलत किया है। हो सकता है कि कुछ सड़कों से प्रतिबंध हटाना संभव न हो परंतु अधिकांश सड़कों पर अनुमति मिलनी चाहिए। दिल्ली सरकार इनकी समस्याओं को लेकर गंभीर नहीं है, लेकिन भाजपा इनके साथ अन्याय नहीं होने देगी। इनकी मांगी पूरी की जाएंगी।
उन्होंने कहा कि दिल्ली में भाजपा की सरकार आने पर सभी समस्याएं हल की जाएंगी। इसके पहले भी केंद्र सरकार के माध्यम से जो भी संभव होगा किया जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का यह सपना है कि अधिक से अधिक लोगों को रोजगार मिले ऐसे में ई- रिक्शा के नए परमिट और लाइसेंस के मुद्दे पर चर्चा करके इसका भी जल्द से जल्द समाधान निकालने का प्रयास किया जाएगा। उन्होंने प्रदर्शन में उपस्थित सभी लोगों से प्लास्टिक का प्रयोग नहीं करने का आह्वान किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *