मारपीट के मामले में पूर्व महापौर सरिता चैधरी पर भाजपा ने की कार्रवाई

image
Description

पंकज चैहान

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी ने पूर्व महापौर सरिता चैधरी को ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’ प्रकल्प के संयोजक पद से हटा दिया है। दरअसल, 19 सितंबर को दिल्ली प्रदेश भाजपा कार्यालय में दक्षिणी दिल्ली के पूर्व महापौर सरिता चैधरी का अपने पति आजाद सिंह विवाद हुआ था।
आजाद सिंह पर पत्नी के साथ मारपीट का आरोप लगने के बाद उन्हें महरौली जिला अध्यक्ष पद से उसी दिन हटा दिया गया था। अब सरिता चैधरी के खिलाफ भी कार्रवाई करते हुए उन्हें ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’ प्रकल्प के संयोजक पद से हटा दिया गया है।
महरौली जिला भाजपा अध्यक्ष आजाद सिंह ने प्रदेश भाजपा कार्यालय में पत्नी व दक्षिणी दिल्ली नगर निगम की पूर्व महापौर सरिता चैधरी के साथ मारपीट की थी। इसे गंभीरता से लेते हुए दिल्ली प्रदेश भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी ने उन्हें पद से हटा दिया था। उनकी जगह जिला महामंत्री विकास तंवर को कार्यवाहक जिला अध्यक्ष की जिम्मेदारी दी गई थी।
दरअसल, प्रदेश कार्यालय में चुनावी प्रभारी प्रकाश जावडेकर ने महरौली जिला के पदाधिकारियों व वरिष्ठ कार्यकर्ताओं की बैठक बुलाई थी। बैठक खत्म होने के बाद कार्यालय परिसर में ही पति-पत्नी के बीच किसी बात को लेकर बहस हो गई। इसी दौरान आजाद सिंह ने पत्नी के साथ मारपीट शुरू कर दी। वहां मौजूद अन्य नेताओं ने किसी तरह से दोनों को अलग किया। जिस समय यह घटना हुई उस समय जावडेकर सहित अन्य नेता कार्यालय में ही मौजूद थे।
सरिता चैधरी रोती हुई उनके पास पहुंचकर शिकायत की। साथ ही उन्होंने 100 नंबर पर फोन करके पुलिस को भी मौके पर बुला ली। वहीं, आजाद सिंह इस घटना के बाद तुरंत कार्यालय से बाहर चले गए। बताते हैं कि पिछले कुछ वर्षों से उनकी अपनी पत्नी के साथ विवाद चल रहा है और फिलहाल दोनों अलग रह रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *